तीन साल में दिखा जमीन-आसमान का फर्क

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि राज्य सरकार ने समाज के हर वर्ग तक विकास पहुंचाया है। विरासत में मिले करीब ढाई लाख करोड़ के कर्जे के बावजूद कुशल वित्तीय प्रबंधन के बल पर प्रदेश आज विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। विकास के मामले में केवल 3 साल की अवधि में ही जमीन और आसमान का फर्क ला दिया है। इसी गति से काम करते हुए आने वाले 2 साल में प्रदेश को देश का सबसे खुशहाल राज्य बनाएंगे।

श्रीमती राजे राज्य सरकार के तीन वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर बुधवार को सीकर में करीब 280 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास के बाद जनसभा को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि तीन सालों में कई बड़ी चुनौतियों के बावजूद हमने विकास के कीर्तिमान कायम किए हैं। सौर ऊर्जा उत्पादन, स्किल डवलपमेंट, भामाशाह योजना, स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय निर्माण, कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने सहित कई क्षेत्रों में हम पूरे देश में नम्बर वन हैं। जनता के विश्वास और प्यार के बलबूते हम हर चुनौती का डटकर मुकाबला करेंगे। उन्होंने कहा कि विकास के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है और सुराज संकल्प के सभी वादे जरूर पूरे होंगे। राजस्थान को हम हर हाल में देश का नम्बर वन राज्य बनाकर रहेंगे।

झुंझुनू और सीकर के 1100 गांवों की बुझाएंगे प्यास

मुख्यमंत्री ने सभा में घोषणा की कि कुम्भाराम लिफ्ट परियोजना के तहत सीकर जिले के 865 गांवों और 6 कस्बों तथा झुंझुनू जिले के 321 गांवों तथा 6 कस्बों की पेयजल योजना की डीपीआर बनाने के लिए करीब 5 करोड़ रुपये की स्वीकृति जारी कर दी गई है। इस स्वीकृति से इन दोनों जिलों की यह लम्बे समय से चली आ रही मांग पूरी होगी।

सीकर में 3 साल में 2 हजार 636 करोड़ के विकास कार्य

श्रीमती राजे ने कहा कि सीकर वह मिट्टी है जिसने हमें देश पर मिटने वाले जांबाज़ सैनिक दिए हैं। शेखावाटी क्षेत्र में सबसे ज्यादा सैनिक पैदा होते हैं। सीकर में पिछले 3 सालों में कुल 2 हजार 636 करोड़ रुपये के विकास कार्य हुए हैं। जिनमें करीब 91 करोड़ रुपये के ग्रामीण गौरव पथ, करीब 30 करोड़ रुपये के 24 नये 33 केवी जीएसएस, करीब 12 करोड़ रुपये से फतेहपुर-लक्ष्मणगढ़-धोद तथा दातारामगढ़ के गांवों में आरओ प्लांट, 58 करोड़ रुपये के नीमकाथाना क्षेत्र में ग्रामीण पेयजल परियोजनाएं, स्वास्थ्य भवनों के निर्माण तथा विभिन्न स्वास्थ्य सुविधाओं पर 92 करोड़ रुपये, आरएसएचडीपी (एडीबी) के 317 करोड़ तथा आरएसआरडीसी के 125 करोड़ रुपये के काम शामिल हैं।

पहली सरकार जिसने जिलों में जाकर दिखाया अपना रिपोर्ट कार्ड

श्रीमती राजे ने कहा कि प्रदेश के इतिहास में यह पहली सरकार है, जो अपने काम का रिपोर्ट कार्ड हर जिले में जाकर दे रही है। उन्होंने कहा कि यूं तो विकास के लिए 3 साल की अवधि बहुत कम होती है, लेकिन हमने इतने कम समय में भी प्रदेश का समग्र रूप से विकास करने का प्रयास किया है।

जल स्वावलम्बन अभियान के लिए 1 करोड़ से अधिक का सहयोग

कार्यक्रम में श्रीमती राजे को मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के द्वितीय चरण के लिए खाटूश्याम जी मंदिर ट्रस्ट की ओर से 21 लाख रुपये, मुम्बई प्रवासी उद्योगपति श्री मूलचंद कुमावत ने 11 लाख रुपये के चैक भेंट किए तथा डीएस ग्रुप फाउण्डेशन नई दिल्ली द्वारा 21 लाख रुपये और अजीतगढ़ क्षेत्र उद्यमी संघ की ओर से 51 लाख रुपये का सहयोग देने की घोषणा की गई।

शहीद वीरांगना को 19 लाख का पैकेज

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने श्रीमाधोपुर तहसील के दादिया रामपुरा निवासी शहीद नाथूराम महला की वीरांगना को राज्य सरकार की ओर से 19 लाख रुपये की सहायता राशि का पैकेज भेंट किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी को शहीद नाथूराम महला की शहादत पर गर्व है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शहीदों के परिवारों को पूरा सम्बल देगी।

प्रदर्शनी और रोजगार मेले का उद्घाटन

श्रीमती राजे ने राज्य सरकार की 3 साल की उपलब्धियों पर आधारित जिला स्तरीय प्रदर्शनी, रोजगार एवं आरोग्य मेला, कैंसर जागरूकता एवं स्वास्थ्य शिविर का शुभारम्भ कर अवलोकन किया। उन्होंने इस अवसर पर सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को सहायता राशि वितरित की और जिले की प्रतिभाओं को सम्मानित किया।

इन विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास

 लोकार्पण/उद्घाटनलागत
कुल280.20 Cr.
1.सीवरेज प्रोजेक्ट, फतेहपुर 57.16 Cr.
2.सीवरेज ट्रीटमेंट प्लान, फतेहपुर12.07 Cr.
3.स्मृति वन, सीकर7.83 Cr.
4.उपखण्ड अधिकारी कार्यालय, खण्डेला2.00 Cr.
5.उपखण्ड अधिकारी, रामगढ़ शेखावाटी2.00 Cr.
6.उप तहसील, नेछवा1.75 Cr.
7.उप तहसील, लोसल1.75 Cr.
8.सदर थाना, नीमकाथाना1.68 Cr.
9.इको टूरिज्म प्रोजेक्ट, हर्षनाथ प्रथम चरण 1.00 Cr.
10.एनयूएलएम अन्तर्गत रैन बसैरा निर्माण0.36 Cr.
शिलान्यास
1.132 केवी ग्रिड सब स्टेशन वाटर वर्क्स, सांवली रोड, सीकर14.74 Cr.
2.जिले की 9 नगर पालिकाओं में शहरी गौरव पथ 9ग2.5 करोड़ प्रत्येक नगर पालिका22.50 Cr.
3.पूर्ण गठित शहरी जल योजना26.00 Cr.
4.सीवरेज योजना में 2 एमएलडी एसटीपी का निर्माण (अमृत योजना) सीवरेज कार्य कुल120.81 Cr.
5.प्याज मण्डी रसीदपुरा4.80 Cr.
6.उपखण्ड अधिकारी कार्यालय, धोद2.00 Cr.
7.तहसील धोद1.75 Cr.

इस अवसर पर चिकित्सा मंत्री श्री कालीचरण सराफ, देवस्थान राज्यमंत्री श्री राजकुमार रिणवा, चिकित्सा राज्यमंत्री श्री बंशीधर खण्डेला, सैनिक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री प्रेमसिंह बाजौर, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती सुमन शर्मा, भूदान बोर्ड अध्यक्ष श्री रामनारायण नागवा, माटी कला बोर्ड अध्यक्ष श्री हरीश कुमावत, सांसद श्री सुमेधानन्द, विधायक श्री गोरधन वर्मा, श्री रतनलाल जलधारी, श्री झाबरसिंह खर्रा, श्री रामलाल शर्मा, जिला प्रमुख सुश्री अपर्णा रोलन, यूआईटी चेयरमैन श्री हरिराम रिणवा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

जयपुर, 18 जनवरी 2017

This slideshow requires JavaScript.