rbsk
कोटा जिले के ईटावा खण्ड के चाणदा गांव में श्री राजेन्द्र के घर में शिवम का जन्म हुआ था। परन्तु भाग्य को कुछ और ही मन्जूर था शिवम के जन्म से ही दिल मे छेद (Congenital Heart Disease) था। शिवम् के माता पिता की आर्थिक हालत काफी नाजुक है। फिर भी उन्होने शिवम्...

शिवम के जीवन में आई खुशहाली

कोटा जिले के ईटावा खण्ड के चाणदा गांव में श्री राजेन्द्र के घर में शिवम का जन्म हुआ था। परन्तु भाग्य को कुछ और ही मन्जूर था शिवम के जन्म से ही दिल मे छेद (Congenital Heart Disease) था। शिवम् के माता पिता की आर्थिक हालत काफी नाजुक है। फिर भी उन्होने शिवम्…
सुधा का जन्म कोटा जिले के सांगोद खण्ड मे श्री सत्यनारायण जांगिड के घर में हुआ। सुधा के दिल मे छेद (Congenital Heart Disease) होने के कारण सुधा के परिवार वाले दुखी थे। सुधा के माता पिता की आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने के कारण ईलाज मे असमर्थ थे।...

सुधा को मिली दर्द भरे दिनों से मुक्ति

सुधा का जन्म कोटा जिले के सांगोद खण्ड मे श्री सत्यनारायण जांगिड के घर में हुआ। सुधा के दिल मे छेद (Congenital Heart Disease) होने के कारण सुधा के परिवार वाले दुखी थे। सुधा के माता पिता की आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने के कारण ईलाज मे असमर्थ थे।…
ज्योति पुत्री श्री नारायण गांव सुरडिया, खण्ड जवाजा, जिला अजमेर की नीवासी है। ज्योति 1 वर्ष की है इसके होंठ जन्म से ही कटें हुए थे इसकें कारण ज्योति के माता-पिता बहुत परेषान थें तथा ज्योति को पानी, दुध पीने व खाने में समस्या होती थी। तभी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के...

ज्योति के होठों का सफल ईलाज

ज्योति पुत्री श्री नारायण गांव सुरडिया, खण्ड जवाजा, जिला अजमेर की नीवासी है। ज्योति 1 वर्ष की है इसके होंठ जन्म से ही कटें हुए थे इसकें कारण ज्योति के माता-पिता बहुत परेषान थें तथा ज्योति को पानी, दुध पीने व खाने में समस्या होती थी। तभी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के…
भीलवाड़ा जिले के शाहपुरा ब्लाॅक में बोरडा बावडी गाॅव में राजकीय उच्च माघ्यमिक विघालय की कक्षा 7 की ‘पूजा’ को जन्मजात हृदय विकृति थी। उसके माता-पिता ने उसे उपचार हेतु कई संस्थानो में दिखा लिया था किन्तु पैसे की कमी के कारण वे उसका पूर्ण उपचार नही करवा पा रहे थे।...

पूजा को मिला नये जीवन का वरदान

भीलवाड़ा जिले के शाहपुरा ब्लाॅक में बोरडा बावडी गाॅव में राजकीय उच्च माघ्यमिक विघालय की कक्षा 7 की ‘पूजा’ को जन्मजात हृदय विकृति थी। उसके माता-पिता ने उसे उपचार हेतु कई संस्थानो में दिखा लिया था किन्तु पैसे की कमी के कारण वे उसका पूर्ण उपचार नही करवा पा रहे थे।…
जालोर जिले के गोडी जी का मन्दिर के अम्बालाल व फुलवती के सात माह के बेटे श्रवण को चिकित्सको ने जब हृदय रोग की बीमारी बताई तो उनके पैरो के नीचे की जमीन खिसक गई। अम्बालाल जालोर शहर में पानी पतासी का ठेला लगाता है उसके घर की...

श्रवण को मिली नई जिन्दगी

जालोर जिले के गोडी जी का मन्दिर के अम्बालाल व फुलवती के सात माह के बेटे श्रवण को चिकित्सको ने जब हृदय रोग की बीमारी बताई तो उनके पैरो के नीचे की जमीन खिसक गई। अम्बालाल जालोर शहर में पानी पतासी का ठेला लगाता है उसके घर की…
 

Go to top