3 years of successful BJP governance
Vasundhara Raje – 3 Successful Years
एक निवेदन मेरा

13 दिसम्बर को आपकी अपनी सरकार ने कामयाबी के तीन वर्ष पूरे कर चौथे वर्ष में प्रवेश किया है। विकास की परिकल्पनाओं को साकार करने के लिए यूं तो तीन वर्ष की अवधि कम ही होती है परन्तु आपकी इस सरकार ने प्रदेश में प्रगति के अनेक नए आयाम स्थापित किए हैं। यह सफलता आपके साथ और आपके विश्वास का ही प्रतिफल है।

इस कालखण्ड में हमने ‘सुराज संकल्प’ में संजोए उन सपनों को हकीकत की जमीन पर उतारने का प्रयास किया है जो आपने और हमने मिलकर देखे थे किन्तु विकास का सफर अभी और बाकी है। अभी हमें प्रगति के अनेक सोपान तय करने हैं। आप तो जानते ही हैं कि इन तीन वर्षों में आपने और हमने कई चुनौतियां का मुकाबला किया। विरासत में मिले आर्थिक संकट से राजस्थान को उबारा और विकास की एक नई इमारत खड़ी की। मुझे यह बताते हुए प्रसन्नता है कि विकास का जो रथ हमने 13 दिसम्बर, 2013 को शुरू किया था, वह आज तरक्की की राह पर तेजी से दौड़ रहा है। आज कई क्षेत्रों में हमारा प्रदेश देश में अग्रणी है।

अब बारी है प्रदेश को विकास की नई बुलंदियों तक ले जाने की। आपके साथ और आपके विश्वास की बदौलत हम इसे पूरा कर दिखाएंगे।

राजस्थान विकास के हर क्षेत्र में आगे बढ़े, विकास का उजाला हर घर तक पहुंचे, इस नेक मकसद को पूरा करने के लिए आओ साथ चलें। आपके साथ से प्रदेश में आशा और विश्वास की ऐसी अविरल धारा प्रवाहित होगी जो स्वच्छ, स्वस्थ, शिक्षित, सशक्त और समृद्ध राजस्थान के निर्माण का हमारा सपना पूरा करेगी।

वसुन्धरा राजे

 
 
भामाशाह योजना के माध्यम से हमने महिला सशक्तीकरण, वित्तीय समावेशन, नगद एंव गैर नगद लाभों को एक प्लेटफार्म के रूप में लाभार्थियों तक पूर्ण पारदर्शिता एंव प्रभावी रूप से पहुँचाने का प्रयास किया है।
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के इतिहास में अन्नपूर्णा भंडार योजना को लागू करने वाला राजस्थान देश का प्रथम व एकमात्र राज्य है। इस योजना के माध्यम से जनसाधरण को उचित मूल्य की दुकानों पर उच्च गुणवत्ता की मल्टीब्राण्ड वस्तुएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं।
बेटियां जन्म लें, स्वस्थ रहें, पढ़ें और बढ़ें इस स्वप्न को साकार करने के लिए हमने मुख्यमंत्री राजश्री योजना आरम्भ की है। इस योजना के तहत बालिकाओं को जन्म से लेकर बारहवीं पास करने तक कुल 50,000 रुपए की वित्तीय सहायता अनुदान के रूप में दी जाती है।
राजस्थान कौशल एंव आजीविका विकास निगम द्वारा युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान कर निजी क्षेत्रों में रोज़गार के अवसर उपलब्ध करवाये जा रहे हैं। प्रदेश में दस लाख लोगों को रोज़गार के अवसर मुहैया करवाये गए। एक लाख युवाओं को सरकारी क्षेत्र में नियमित नियुक्तियां दी गयी हैं।
राज्य सरकार प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक आदर्श विद्यालय बना रही है। आदर्श विद्यालयों में शिक्षकों, अधिकारियों तथा कम्प्यूटर और खेल आदि जैसी आधारभूत सुविधाओं की समुचित व्यवस्था है। इन विद्यालयों में विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ खेल एवं कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान की जा रही है।
भामाशाह स्वास्थ्य बिमा योजना प्रदेश की दो तिहाई आबादी को निःशुल्क व गुणवत्तापूर्ण इंडोर स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध करने के उद्देश्य से शुरू की गयी है। योजना के तहत अब तक 6 लाख लोगों को स्थास्थ्य बिमा का लाभ दिया जा चुका है और 254 करोड़ रुपए के बिमा क्लेम बुक किये जा चुके हैं।
राज्य के लोगों को ई – गवर्नेंस और गुड़ गवर्नेंस देने की दिशा में ई – मित्र अभूतपूर्व कदम है। ई – मित्र के सर्विस डिलीवरी कियोस्क पूरे राज्य में ग्राम पंचायत के स्तर तक प्रत्येक अटल सेवा केंद्र में खोले गए हैं।
गौरव पथों ने बढ़ाया राज्य के गांव का गौरव। प्रथम चरण में 1972 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर निर्माण कार्य पूर्। द्वितीय चरण में 2086 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर निर्माण कार्य प्रारंभ।
जल स्वावलंबन योजना के प्रथम चरण में मिली अपार सफलता को देखते हुए, राज्य सरकार ने ज़ोर-शोर से द्वितीय चरण की तैयारी शुरू कर दी है। भविष्य में राजस्थान की जनता को जल सरंक्षण तथा वर्षा जल उपयोग में सक्षम बनाना ही हमारा मुख्या लक्ष्य है।
राजस्व लोक अदालत ‘न्याय आपके द्वार अभियान के माध्यम से स्वामित्व, खातेदारी अधिकार और उत्तराधिकार के झगड़ों और विवादों के निस्तारण से काश्तकार को मिला न्याय।
प्रदेशभर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पंचायत शिविर आरम्भ किये गए हैं जिसके अंतर्गत ग्रामीणों की विभिन्न विभागों से सम्बंधित समस्याओं का समाधान हो रहा है।
राजस्थान जन सम्पर्क पोर्टल के माध्यम से आम वयक्ति अपनी शिकायतें ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं, जिनका समयबद्ध एवं पारदर्शिता रूप से निस्तारण किया जाता है।
मेरा राशन, मेरा हक़

Go to top