- Vasundhara Raje - https://vasundhararaje.in -

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्र्तगत किसनाराम के हुआ निशुल्क एओरटिक वाल्व प्रत्यारोपण

राज्य सरकार की लोकहित कल्याणकारी भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना से अनेक अभावग्रस्त और जरूरतमंद लोगो का इलाज बिना किसी खर्च के जीरो जेबखर्च पर बिल्कुल कैशलेस हो रहा है। नागौर के मकौडी गांव के किसनाराम भी इस योजना से लाभान्वित हुए एक मरीज है। 64 वर्षीय किसनाराम के पिछले कुछ समय से छाती में दर्द की शिकायत थी। जगह जगह इलाज के लिये दिखाया तो किसी ने इसका कारण फेफडो के कमजोर होना बताया तो किसी ने गुर्दे की बीमारी बताई। आखिरकार बीकानेर के हल्दीराम मूलचंद कार्डियोलाॅजी सेंटर में विशेषज्ञ चिकित्सको से जांच करवाने पर पता लगा कि उसके हार्ट के वाल्व में खराबी है जिसके लिये उसको एओरटिक वाल्व प्रत्यारोपण करवाना होगा। चिकित्सको से इलाज के खर्चे के बारे में पूछा तो पता लगा कि सरकारी चिक्त्सिा संस्थान में करीब सवा लाख रूपयें की रकम इलाज में लग जायेगी। निजी चिकित्सालय में तो यह इलाज दोगुना-चौगुने रूपयें का हो जाता। खेती बाड़ी का काम करने वाले किसनाराम के लिये इतने रूपये जुटा पाना संभव ही नही था।

इसी दौरान 13 दिसम्बर को राजस्थान में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ हुआ और अख़बारों से किसनाराम को जानकारी मिली कि इस योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय खाध सुरक्षा अधिनियम या पूर्व में चलाई गई राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभार्थी को इस योजना के अन्तर्गत सभी इलाज कैशलेस मिलेगा। किसनाराम अपने सभी जरूरी दस्तावेज लेकर हल्दीराम मूलचंद कार्डियोलाॅजी सेंटर पर मरीजो की सुविधा के लिये लगा रखें स्वास्थ्य मार्गदर्शक के पास गया जहां सारे दस्तावेजो को देखने के बाद पता लगा कि वह भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का पात्र है और उस योजना के तहत उसके इलाज पर लगले वाले एक लाख, पांच हजार रूपयें राज्य सरकार की और से किए गए करार के मुताबिक दि न्यू इंडिया इनश्योरेंस कंपनी लिमिटेड द्वारा वहन किया जायेगा।

22 दिसम्बर 2015 को देश के विख्यात गुडगांव की मेदांता अस्पताल के विशेषज्ञों की टीम द्वारा हल्दीराम मूलचंद कार्डियोलाॅजी सेंटर में किसनाराम के एओरटिक वाल्व प्रत्यारोपण किया गया और दिनांक 30 दिसम्बर तक इसी सेंटर तक उपचार लेने के बाद नई उमंग के साथ स्वस्थ जीवन जीने के लिये किसनाराम अपने गांव मकौडी में चले गयें। योजना से लाभान्वित होने बाद जब किसनाराम से बात की गई तो उसने बताया कि इतनी दूर गांव तक बैठे हम गरीब और अभावग्रस्त लोगा के बारे में राज्य सरकार ने सोचा, ये राज्य सरकार की आमजन के प्रति नेकनीयती और संवेदनषीलता को बताता है। अगर सही समय पर ये योजना लागू नही की गई होती तो उसको अपने इलाज के लिये पैसा जुटाना बहुत ही मुष्किल हो जाता।

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना से राजस्थान के उस आमजन को गुणवत्ता पूर्वक चिकित्सा सेवाएं बिल्कुल निशुल्क मिल रही है जिसको इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है। ऐसे सार्थक प्रयासों के लिये किसनाराम ने राजस्थान सरकार का आभार जताया।

मुख्य पृष्ठ पर वापस जाएं [1]